लाइफस्टाइल: चमत्कारी नींबू ब्लड शूगर का दुश्मन!

Lifestyle: Benefits of Lemon in Blood Sugar

Benefit of Lemon
Benefit of Lemon

नींबू करता है कई बीमारियों से बचाव

नींबू का स्वाद खट्टा होता है। इसकी कुछ बूंदे खाने का स्वाद बढ़ा देती हैं। नींबू से सिर्फ खाने के स्वाद में ही बढोत्तरी नहीं होती बल्कि यह कई बीमारियों से भी बचाता है।

नींबू में विटामिन सी, फाइबर, पोटेशियम जैसे अनेक पोषक तत्व पाए जाते हैं। विटामिन सी मरीजो में इंफेक्शन का खतरा कम कर देता है।

नींबू का इस्तेमाल करने से खाना आसानी से पच जाता है। (इसका यह अर्थ नहीं की खाना पचाने की सारी ज़िम्मेदारी नींबू पर डाल दें।

यदि किसी ततैया या मधुमक्खी ने डंक मार दिया है तो आप नींबू काट कर उस स्थान पर रगड़े जिससे वह डंक आसानी से निकल जायेगा। (नींबू शरीर के जिस भी अंग पर आप लगा रहें हैं इसका विशेष ध्यान रखें की वहां कोई चोट, फूंसी या फोडा ना हो।)

सुबह उठकर एक गिलास गरम पानी में एक नींबू डालकर साथ ही एक चम्मच शहद भी मिलाकर पिया जाये तो वजन कम करने में सहायता होती है। (इसका यह अर्थ नहीं है कि वजन कम करने के लिये एक्सरसाइज नहीं करनी है।)     

जब भी किसी को दस्त या उल्टी की समस्या हो रही है तो नींबू पानी बनाकर पीने से राहत मिलती है। यह भी कहा जा सकता है कि इस समस्या का सार्थक घरेलू उपाय है। गर्भवस्था में महिलाओं को अधिक उल्टी की समस्या होती है, परिणाम स्वरूप वह गर्भवस्था में खट्टा यानी नींबू का अधिक उपयोग करती हैं। (इसका अर्थ यह बिल्कुल नहीं है कि लगातार उल्टी दस्त होने के बाद भी आप डॉक्टर को ना दिखाएँ।)

डायबिटीज (Diabetes) की दवाई के रूप में नींबू का इस्तेमाल

वर्तमान में डायबिटीज होना एक आम बात हो गई है। यह मर्ज किसी भी उम्र में हो सकता है। यह मर्ज किसी भी आयु के लोगों में अछूता नहीं है। डायबिटीज में अंग्रेजी दवाईयों से ज्यादा असरदार परहेज करना अर्थात अपने खाने पीने में कट्रोल करना आवश्यक होता है।

जिस तरह खाने में कट्रोल करना आवश्यक होता है उसी तरह अपने खाने में कुछ विशेष खाद्य पदार्थ को शामिल करना भी आवश्यक होता है। उन्हीं खाद्य पदार्थों में से एक नींबू भी है। यदि डायबिटीज का मरीज नींबू का सेवन करता है तो उसका ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है। (जिस तरह कोई भी दवाई बिना परहेज के असर नहीं करती उसी तरह मरीज की जीवनशैली, टाइट चार्ट, व एक्सरसाइज के बिना नींबू का असर इतना स्पष्ट नहीं हो सकता जितना होना चाहिये।)

डाइट में नींबू को करे शामिल

1 आप नींबू का अचार बना लें और उसका सेवन करें।

2 नींबू सुबह उठकर एक गिलास पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

3 कुछ सब्जी ऐसी हैं जिसमें नींबू डालकर पकाया जा सकता है, जैसे घिया की सब्जी में टमाटर की जगह एक नींबू डाला जा सकता है।

4 दाल में डालकर दाल-चावल खाया जा सकता है।

5 सब्जी में डालकर रोटी सब्जी खाई जा सकती है।

6 सलाद में मिलाकर खाया जा सकता है।

7 नींबू की चटनी बनाई जा सकती है। (चटनी बनाते समय टमाटर/दही के स्थान पर नींबू डाला जा सकता है।)

8) लेमन टी बनाकर पी जा सकती है।

9) चना, मूँग आदि भीगाकर रख दें अगले दिन पानी से निकाल कर उसमें टमाटर प्याज मिर्च आदि के साथ नींबू डालकर खा सकते हैं।

परिणाम स्वरूप अपने स्वाद व इच्छानुसार आप नमक की बनी चीजों में नींबू का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नींबू का इस्तेमाल किन चीजो में नहीं करना चाहिये

दूध या दूध से बनी किसी भी चीज में नींबू डालकर इस्तेमाल ना करें जैसे  दूध, दही, खीर आदि।

सरल रूप से इस प्रकार कहा जा सकता है कि किसी भी मिठी चीज में नींबू डालकर नहीं खाया जा सकता/नहीं खाना चाहिये। नींबू अपने आप में खट्टा है जिसका इस्तेमाल लगभग सभी नमक की चीजो में ही हो सकता है।

निष्कर्ष

नींबू स्वाद व मानव शरीर के लिये लाभपूर्ण पदार्थ है।

यह कई बीमारियों में घरेलू दवा के रूप में काम आता है।

यदि कोई बीमारी है तो पूर्ण रूप से नींबू को उसकी दवाई नहीं माननी चाहिये। डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिये।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

By Sunaina

Leave a Comment