5G Network: क्या आप 5G पांचवी पीढी की सेलुलर नेटवर्क तकनीक के बारे में जानते है? | Do you know about 5G fifth generation cellular network technology? (in Hindi)

वर्तमान में हम 4G नोटवर्क डाटा इस्तेमाल कर रहे हैं। 4G से पहले हम 2G, 3G की स्पीड का डाटा इस्तेमाल कर रहे थे। यह हम सभी जानते हैं कि 2G, 3G डाटा की स्पीड 4G से बहुत कम थी। भारत में जो ऑनलाइन डाटा (नेटवर्क) इस्तेमाल हो रहा है वह 4G है। निकट भविष्य में ही 5G पांचवी पीढी की सेलुलर नेटवर्क तकनीक की शुरूआत भारत में करने की योजना चल रही है। जिस प्रकार 4G डाटा स्पीड 3G से अधिक है उसी प्रकार 5G डाटा स्पीड भी 4G से अधिक होगी। यह माना जा रहा है कि 5G डाटा स्पीड 4G से 100 गुना अधिक नेटवर्क एक्सेस करेगा। परिणाम स्वरूप यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि 5G नेटवर्क डाटा है जिसका इंतज़ार भारत के लोग कर रहें हैं।

5G Network
5G Network

5G Network की शुरूआत भारत में कब से होगी और किन शहरों में होगी? (When will 5G launch in India and in which cities?)

5G की शुरूआत भारत में बहुत जल्दी होगी। दूरसंचार विभाग (DOT) के मुताबिक 2022 के जाते-जाते भारत के लगभग 13 शहरों में 5G नेटवर्क की सुविधा शुरू की जाएगी। उन 13 शहरों के नाम इस प्रकार हैं – दिल्ली, गांधीनगर, पुणे, जामनगर, चंडीगढ़, बैंगलोर, लखनऊ, अहमदाबाद, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता, मुंबई, गुरूग्राम।

5G नेटवर्क के फायदे (Advantages of 5G Network)

ऐसा माना जा रहा है कि 5G नेटवर्क में बिजली की रफ्तार से भी जल्दी डेटा ट्रांसफर हो सकता है। इसका अनुमान आप इस बात से लगा सकते हैं कि 3 घंटे कि फिल्म भी 1 सैकेंड से कम समय में डाउनलोड हो सकती है।

यदि मोबाइल का tower दूर हुआ तब भी 5G नेटवर्क की सुविधा होने से इंटरनेट उपयोग करने में असुविधा नहीं होगी।

एक ही नेटवर्क से एक ही समय पर एक साथ अनेक डिवाइस जोड़े जा सकते हैं। संभावना है कि मोबाइल की बैटरी वर्तमान की तुलना में कम इस्तेमाल होगी।

5G के कारण इंटरनेट की स्पीड बढ़ने से भारतीय अर्थव्यवस्था में भी फायदा पहुँचेगा अर्थात व्यापार में अत्यधिक सहयोगी सिद्ध होगा। हम यह स्पष्ट रूप से जानते हैं कि कोरोना काल के बाद इंटरनेट की आवश्यकता अधिक बढ़ गई है, चाहे पढ़ाई के क्षेत्र में हो या व्यपार के क्षेत्र में हो। परिणाम स्वरूप इंटरनेट की स्पीड तेज होने से काम भी जल्दी होंगे।

संभावना है कि 5G नेटवर्क की शुरूआत होते ही 5G मोबाइल भी लोग खरीदना चाहेंगे परिणाम स्वरूप 5G मोबाइल का व्यापार करने वाली कम्पनियों को भी लाभ मिलेगा।

5G का अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रभाव (Impact of 5G Internationally)

माना जा रहा है कि 5G को 2035 तक पूर्ण रूप से उपयोगी बनाया जा सकता है। लगभग 60 से अधिक देशो में 2019 से ही वाणिज्यिक के लिए 5G नेटवर्क की तैनाती की जाने लगी है। 5G नेटवर्क शुरू होने के परिणाम स्वरूप 5G मोबाइल की सुविधा भी शुरू हो गई है।

भारत के अलावा फ्रांस, जर्मनी जैसे अन्य देश भी 5G नेटवर्क की सुविधा निकट भविष्य में अपनाने का विचार कर रहें हैं।

5G नेटवर्क से नुकसान (Disadvantages of 5G Network)

भारते के कुछ वैज्ञानिकों ने 5G के विषय में अधिक जल्दबाजी न करने की सलाह दी है। कुछ वैज्ञानिकों बताया है कि 5G से इंसान की सेहत व पर्यावरण को नुकसान पहुँच सकता है। वैज्ञानिकों का मत था कि 5G को शुरू करने से पहले विस्तार पूर्वक रिसर्च करने की आवश्यकता है। इसका मुख्य कारण यह है कि रेडिएशन का प्रभाव अधिकतर देर से स्पष्ट दिखाई देता है। उनका कहना है कि यादि यह इंसानो को नुकसान ना भी पहुँचाए लेकिन पर्यावरण के मामले में विचार तो करना ही चाहिए। WHO के मुताबिक अभी तक 5G से होने वाले नुकसान पर सहमति नहीं दी गई है, लेकिन इसकी रिसर्च अवश्य करनी चाहिए।

5G नेटवर्क सुविधा प्राप्त करने के लिए कितने रूपए चुकाने पड़ सकते हैं? (How much to pay for 5G network facility?)

वर्तमान में नेटवर्क प्रोवइडर द्वारा 5G नेटवर्क के मूल्य (कीमत) पर किसी प्रकार की कोई घोषणा नहीं की गई है। लेकिन माना यह जा रहा है कि 5G नेटवर्क के लिए भी 4G नेटवर्क जितनी ही कीमत चुकानी पड़ेगी।

5G नेटवर्क कम्पनियाँ चाहें 5G के नाम पर भले ही रूपये न लें लेकिन सभावना है कि एवरेज रेवन्यू पर यूनिट 50 रूपये से 250 बढ़ जाएंगे। कहने का अर्थ है कि 5G आते ही लोग अधिक डेटा इस्तेमाल करने लगेंगे। परिणाम स्वरूप उन्हें मंथली प्लान सुविधा के अतरिक्त भी डाटा खरीदना पड़ेगा।

इसे इस तरह समझा जा सकता है कि जब डाटा महँगा था तब कम लोग डाटा प्लान खरीदा करते थे लेकिन जैसे ही डाटा प्लान सस्ता हुआ अधिक से अधिक लोगों ने इंटरनेट चलाना शुरू कर दिया यानी अधिक लोगों ने खरीदना शुरू कर दिया। परिणाम स्वरूप कहा जा सकता है कि जब इंटरनेट सस्ता हुआ और 4G चलने लगा तब कम्पनियों को पहले के मुकाबले अधिका फायदा हुआ।

स्पष्ट तथ्य यह है कि लोग ज्यादा डेटा इस्तेमाल करेंगे तो ज्यादा खरीदेंगे भी जिस कारण अप्रत्यक्ष रूप से कंपनी को इसका फायदा मिलेगा।

-By Sunaina

5G Network Webstories

Leave a Comment