जानिये पर्सनल लोन क्या होता है? | What is a Personal Loan?

पर्सनल लोन क्या होता है? | What is a Personal Loan?

Loan
जैसा कि आपको पता ही होगा कि लोन का मतलब है कर्ज़ा, ऋण या उधार। अब क्योकि हम पर्सनल लोन की बात कर रहे है इसीलिए यहाँ इसका मतलब हो जाता है “व्यक्तिगत ऋण”। ऐसा लोन जो कि किसी भी बैंक या फाइनेंशियल संस्था से लिया गया हो। पर्सनल लोन ऐसा लोन है जिसमे आप किसी बैंक या फाइनेंसियल संस्था से पैसा ऋण पर लेते है और साथ ही इस तरह के लोन के लिए कोई खास कारण नहीं होता है। यह लोन वयक्ति अपने निजी उदेश्यों की पूर्ति के लिए लेता है और उसी के अनुसार उसका उपयोग भी करता है। पर्सनल लोन में कागज़ी कार्यवाही भी ज्यादा नहीं होती है। पर्सनल लोन व्यक्ति अपनी मेडिकल इमरजेंसी, या अपनी जरुरी वस्तु को खरीदने आदि के लिए लेता है। पर्सनल लोन में सुविधा अनुसार छोटी किश्तों में लोन चुकाने की सुविधा होती है। साथ ही पर्सनल लोन की EMI भी फिक्स रहती है।
आज के दौर में पर्सनल लोन ऐसे समय पर सहायक साबित होते है जब आप या तो किसी मुश्किल वक़्त में होते है या आप को किसी जरुरत को हर हाल में पूरा करना होता है। कई बार अपने शौक पूरा करने के लिए भी पर्सनल लोन आपके लिए एक ऐसा माध्यम साबित होता है जिसकी मदद से आप अपने सपने पूरे करते है। परिवार, दोस्तों के संग यात्रा, घर की मरम्मत, या घरवालों / अपनी शादी में लगने वाली आर्थिक मदद इत्यादि ।
पर्सनल लोन की एक खूबी यह भी है कि बहुत से बैंको द्वारा इसकी शीघ्र लोन स्वीकृत भी हो जाती है। न्यूनतम दस्तावेज से शीघ्र मंजूरी के साथ आपको पर्सनल लोन मिल जाता है।

पर्सनल लोन की विशेषताए

किसी भी बैंक से पर्सनल लोन लेने के लिए एक व्यक्ति को न्यूनतम आयु की शर्त पूरा करना होता है। अन्य दस्तावेजों के साथ आईडी, आय और निवास प्रमाण (प्रूफ) देना होता है। पर्सनल लोन के भुगतान करने के लिए ईएमआई (समान मासिक किस्त) सुविधा का विकल्प होता हैं। आप लोन चुकाने के लिए अवधि का भी चयन कर सकते है। यदि आप किसी बैंक के ग्राहक हैं, तो यह भी संभव है कि आपको पर्सनल लोन के लिए सर्वोत्तम दरों का विकल्प भी मिल जाए।
प्रति माह कितना भुगतान करने की आवश्यकता है यह जानने के लिए कि आप, पर्सनल लोन कैलकुलेटर की मदद भी ले सकते है। इसकी मदद से आप चक्रवृद्धि ब्याज की गणना और ब्याज सहित आपको कितनी ईएमआई देनी होगी यह आसानी से पता कर सकते है।

पर्सनल लोन / व्यक्तिगत लोन कब लेना चाहिए?

एक व्यक्तिगत लोन यानी की पर्सनल लोन केवल एक प्रकार का होता है और इसका किसी भी प्रकार की आवश्यकता के लिए लाभ उठाया जा सकता है। अब सवाल ये है कि पर्सनल लोन / व्यक्तिगत लोन कब लेना चाहिए? इसका जवाब ये है कि आप अपनी जरुरत के हिसाब से कभी भी पर्सनल लोन के लिए अप्लाई कर सकते है। यह सही मायने में एक सबसे अच्छा विकल्प होता है। जैसा कि आप जानते है, यह एक असुरक्षित लोन है इसीलिए बैंक आपकी उम्र, आय, मौजूदा देनदारी, और आपका क्रेडिट स्कोर आदि के आधार पर आपकी योग्यता का मूल्यांकन करता है।

पर्सनल लोन का उपयोग किस लिए किया जा सकता है?

पर्सनल लोन / व्यक्तिगत लोन का उपयोग आप किसी भी जरूरत को पूरा करने के लिए कर सकते है इसके अंत-उपयोग पर कोई प्रतिबंध नहीं है। इसका उपभोग या उत्पादक उपयोग हो सकता है। उदाहरण के लिए, बीमा राशि, किसी यात्रा का खर्चा, किसी वस्तु को खरीदने के लिए, वयवसाय मे विस्तार के लिए इत्यादि।
 

पर्सनल लोन के लिए कोई कैसे आवेदन कर सकता है?

मौजूदा ग्राहकों के लिए आज कल बैंक मोबाइल ऍप पर या फिर इंटरनेट बैंकिंग खाते के ज़रिये आवेदन के लिए सुविधा देते है। वहीँ नए ग्राहको के लिए बैंक अपनी वेबसाइट पर से एप्लिकेशन डाउनलोड करने की सुविधा देते है। आप बैंक की नज़दीकी शाखा से भी लोन के लिए एप्लीकेशन प्राप्त कर सकते हैं। इसके बाद आपको लोन एप्लीकेशन को भर कर, प्रसंस्करण शुल्क चेक के माध्यम से केवाईसी, पते के प्रमाण और आय प्रमाण के लिए दस्तावेज देने होंगे। आपके सभी दस्तावेज बैंक सत्यापित करेगा उसके बाद ही आपको लोन की मंजूरी देगा। यह भी ध्यान रखे कि आपकी पात्रता के आधार पर ही लोन की राशि को मंजूरी मिलेगी। बाकी की फॉर्मलिटीज में समझौते पर हस्ताक्षर और स्थायी निर्देश (एसआई) अनुरोध / ईसीएस फॉर्म पर हस्ताक्षर लिए जायेंगे। इसके बाद धनराशि आपके खाते में वितरित कर दी जाएगी और आपके खाते में जमा हो जाएगी। ये प्रक्रिया पूरा करने में बैंक आपकी पूरी मदद करते है और इसमें ज़्यादा समय भी नहीं लगता है।

लोन लेते वक्त किन बातो का रखे ध्यान?

  • पहले उसी बैंक में अप्लाई करे जहाँ आपका बैंक अकाउंट, सैलरी अकाउंट, होम लोन, कार लोन, आदि हो। इससे आपकी केवाईसी प्रक्रिया आसान और तेज़ी से हो जाती है।
  • लोन ब्याज दरों, प्रसंस्करण शुल्क, पूर्व-भुगतान / किसी भी तरह की देरी व फौजदारी, आदि के लिए जुर्माना की दर व राशि के बारे में पता करें।
  • अपना क्रेडिट स्कोर अच्छा बनाये रखे क्योकि लोन अनुरोध की मंजूरी आपके क्रेडिट स्कोर पर आधारित रहती है। अगर आपके पहले के कोई और लोन चल रहे है तो इस बात का ध्यान रखे कि उनका पुन: भुगतान समय पर हो।
— By Gaurav Joshi

Leave a Comment